गौभक्त विचार

मैं गाय की पूजा करता हूँ

मैं गाय की पूजा करता हूँ

"मैं गाय की पूजा करता हूँ | यदि समस्त संसार इसकी पूजा का विरोध करे तो भी मैं गाय को पुजूंगा-गाय जन्म देने वाली माँ से भी बड़ी है | हमारा मानना है की वह लाखों व्यक्तियों की माँ है "

- महात्मा गाँधी 

गौमाता गौ सेवा ट्रस्ट के फेसबुक पेज से प्रेरित होकर ....

गौमाता गौ सेवा ट्रस्ट के फेसबुक पेज से प्रेरित होकर फेसबुक के मालिक Mark Zuckerberg के मन में गौवंस के प्रति प्रेम भाव जागा..!! फोटो में गौमाता के नन्हे बच्चे से प्रेम करते हुए फेसबुक के मालिक मार्क जुकरबर्ग जी । #शेयर जरूर करे ।जय गौमाता जय गोपाल । 

इस्लाम धर्म में गाय का महत्व——-

देश में विद्वेषपूर्ण और भ्रमक प्रचार किया जाता हैं कि इस्लाम गौवध कि इजाजत देता हैं | किन्तु ऐसा नहीं हैं निम्नलिखित उदाहरणों व तथ्यों के आधार पर यह स्पष्ट होता हैं कि इस्लाम व पैगम्बर साहब सदा गाय को आदर की नजर से देखते थे |
——( बेगम हजरत आयशा में ) हजरत मों. साहब लिखते हैं कि गाय का दूध बदन की ख़ूबसूरती और तंदुरुस्ती बढाने का बड़ा जरिया हैं |
—–(नासिहते हाद्रो) हजरत मों. साहब लिखते हैं कि गाय का दूध और घी तंदुरुस्ती के लिए बहुत जरूरी हैं | और उसका मांस बीमारी पैदा करता हैं | जबकि उसका दूध भी दवा हैं |

घर घर में गोपालन हो

घर घर में गोपालन हो । अपने हाथ से गोसेवा करने का सौभाग्य हर परिवार को प्राप्त हो । प्रत्यक्ष जिनके भाग्य में यह गोसेवा नहीं वे रोज गोमाता का दर्शन तो करें । मन ही मन पूजन, प्रार्थना करें व प्रतिदिन अपनी आय का कुछ भाग इस हेतु दान करें । किसी ना किसी रूप में गाय हमारे प्रतिदिन के चिंतन, मनन व कार्य का हिस्सा बनें । यही मानवता की रक्षा का एकमात्र उपाय है ।

Pages