गौ समाचार

10 राज्यों में क़ानूनन होती है गो-हत्या

भारत के 29 में से 10 राज्य ऐसे हैं जहां गाय, बछड़ा, बैल, सांड और भैंस को काटने और उनका गोश्त खाने पर कोई प्रतिबंध नहीं है. बाक़ि 18 राज्यों में गो-हत्या पर पूरी या आंशिक रोक है.

भारत की 80 प्रतिशत से ज़्यादा आबादी हिंदू है जिनमें ज़्यादातर लोग गाय को पूजते हैं. लेकिन ये भी सच है कि दुनियाभर में ‘बीफ़’ का सबसे ज़्यादा निर्यातकरनेवाले देशों में से एक भारत है.

दरअसल ‘बीफ़’, बकरे, मुर्ग़े और मछली के गोश्त से सस्ता होता है. इसी वजह से ये ग़रीब तबक़ों में रोज़ के भोजन का हिस्सा है, ख़ास तौर पर कई मुस्लिम, ईसाई, दलित और आदिवासी जनजातियों के बीच.

बांध का पानी घुसा पथमेड़ा गोशाला में, 536 गोवंश की मौत

बांध का पानी घुसा पथमेड़ा गोशाला में, 536 गोवंश की मौत

पांचला बांध टूटने के कारण उपजे बाढ़ के हालात ने जहां क्षेत्र में खासा नुकसान किया है। वहीं इसका पानी पथमेड़ा गोशाला की विभिन्न शाखाओं में घुसने से बड़ी तादाद में गोवंश की मौत हुई है। गोवंश की मौत का आंकड़ा बढ़कर अब 536 तक पहुंच चुका है। गौरतलब है कि गत दिनों अतिवृष्टि के कारण पांचला बांध टूट गया था। इसका पानी पथमेड़ा गोशाला की 18 शाखाओं में घुस गया। वहीं इस दौरान अतिवृष्टि के हालात भी बने रहे। ऐसे में गोशाला के करीब 536 गोवंश की मौत हो गई। गोशाला प्रबंधन के अनुसार पांचला बांध टूटने से गोधाम पथमेड़ा व इससे संबंधित गोशालाओंं में तेज वेग से पानी का बहाव हुआ। पानी का बहाव इतना तेज था कि वह गोवं

अब गायों की रक्षा करेंगे किन्‍नर

अब गायों की रक्षा करेंगे किन्‍नर

अब गायों की रक्षा करेंगे किन्‍नर
पानीपत में गोचरांद जमीन मुक्त कराने के लिए प्रदेश सरकार को हिला देने वाले गोपालदास ने कहा कि गोरक्षा में किन्नर समाज ही आगे है। इस समाज को सबसे उपेक्षित माना जाता है, लेकिन इनके दिन में गोरक्षा के लिए एक जज्बा है।

ये बात उन्होंने रविवार को आदर्श नगर में किन्नर समाज के कार्यक्रम में बोलते हुए कही। किन्नर समाज ने गोपाल दास को गोचरांद जमीन आंदोलन में समर्थन दिया।

Pages