gauparivar's blog

गोवर्धनधारी की दुलारी गौ माँ

गोवर्धनधारी की दुलारी गौ माँ

गोवर्धनधारी की दुलारी गौ माँ
साधु संतोँ मुनियोँ की प्यारी गौ माँ
ममता की मृदु फुलवारी गौ माँ
पर्यावरण की रखवाली गौ माँ
मानव पे सदा उपकारी गौ माँ
कदम कदम सुखकारी गौ माँ
हाय फिर भी है दुखियारी गौ माँ
संकट मेँ आज है हमारी गौ माँ
.
गौमाता का दूध अमृत समान है
गोबर और मूत्र भी गुणोँ की खान हैँ
रक्तचाप मधुमेह ज्वर अस्थमा
कैँसर जैसे रोगोँ का ये करे खात्मा
गौमूत्र के जैसे एंटीबॉयटिक नहीँ है
घी से ज्यादा कुछ स्वास्थ्यदायक नहीँ है
हृदय रोग मेँ भी गुणकारी गौ माँ
संकट मेँ आज है हमारी गौ माँ
.

Blog Category: 

गोमाता को वचन दे के प्लास्टिक का उपयोग बंद करेगे

गोमाता को वचन दे के प्लास्टिक का उपयोग बंद करेगे

आईये हम सब गोमाता को वचन दे के प्लास्टिक का उपयोग बंद करेगे ।
कोई भी वयक्ति जो प्लास्टिक का उपयोग करता है,गोमाता के लिये किसी हत्यारे से कम नही है।
क्यिोंकी प्लास्टिक खाने के बाद गोमाता के बचने कि संभावना ना के बराबर रहती है।
इसलिये यदि पुण्य नही कमा सकते, कम से कम पाप तो ना कमाये।

धार्मिक कार्यों में गाय के गोबर का प्रयोग क्यों?

धार्मिक कार्यों में गाय के गोबर का प्रयोग क्यों?

आपने देखा होगा कि किसी भी धार्मिक कार्यों में गाय के गोबर से स्थान को पवित्र किया जाता है। गाय के गोबर से बने उपले से हवन कुण्ड की अग्नि जलाई जाती है। आज भी गांवों में महिलाएं सुबह उठकर गाय गोबर से घर के मुख्य द्वार को लिपती हैं। माना जाता है कि इससे लक्ष्मी का वास बना रहता है। प्राचीन काल में मिट्टी और गाय का गोबर शरीर पर मलकर साधु संत स्नान भी किया करते थे।

Blog Category: 

हम गौ सेवा कैसे करें?

हम गौ सेवा कैसे करें?

हम गौ सेवा कैसे करें?
हम गौ सेवा कैसे करें , कई लोगों के मन में यह सवाल रहता है ,
इसकेलिए यह जानना जरुरी है की हम गौ सेवा निम्न प्रकार से कर सकते है :-

Pages