Blog

एक भक्त और गौ माता

एक भक्त और गौ माता

श्रीमद्भागवत के अनुसार भगवान श्री कृष्ण गायों के समूह के पीछे पीछे चलते थे .

इस पर एक भक्त ने गौ माता से इस प्रकार पूंछा-

भक्त - 
गोमाता ! तुम अपने ईष्ट देव के आगे आगे क्यों चलती हो ?
उनके तो पीछे पीछे चलने का विधान है.

गौ - 
आप भूल कर रहे हो अधिष्ठान तो सदा पीछे ही रहता है.
भगवान मेरे ईष्ट और संरक्षक है ,
उनके द्वारा संरक्षित हम अपने गंतव्य स्थान पर बिना किसी भय और संकोच के शीघ्र पहुँच जाती है तो मैया हमारा दूध निकालकर उबालकर शीघ्र लाला को पिला देती है.

अब गायों का भी बनेंगे आधार कार्ड, रहेगी पूरी डीटेल !

अगर आपके पास अभी तक आधार कार्ड नहीं है, तो ये कहा जा सकता है कि आपसे ज्यादा अपडेट तो गाय हैं। दरअसरल मध्यप्रदेश में जल्द ही गायों के भी आधार कार्ड बनाए जाएंगे। इसमें गायों की पूरी डीटेल और लोकेशन वगैरह की जानकारी होगी। पशुपालन मंत्री अंतर सिंह आर्य का कहना है कि इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू कर दिया गया है और इसकी मदद से अवैध तस्करी पर काम शुरू कर दिया जाएगा।

विकास की और बढ़ता देश...

देखो अंग्रेंजो जिसे तुम सांप सपेरों का देश समझते थे ,अब कितना विकसित हो गया है हमारा चमड़ा उद्योग कितना फल फूल रहा है जिसे तुम भारतीय नारी कहते थे जो रसोई में और घूँघट में रहती थी अब वो रसोई में नहीं बल्कि ऑफिस जाती है दारू सिगरेट और अब एक्सपोज़ करती है, बेटी अपने माता पिता को और पत्नी अपने पति को ।पति अपनी पत्नी को धोखा देता है

भारत के लोग अपने देश वीर महापुरषो को नहीं जानते

बल्कि हिटमैन सुपरमैन और स्पाइडर मैन को जानते है

दूध घी मक्खन खाने वाला देश आज पिज़्ज़ा बॉर्गर और मेदे की बनी चीज़े खा रहा है

गोवरधन धारी

गोवरधन धारी की दुलारी गौ माँ 
साधू संतो मुनिओ की पियरी गौ माँ
मानव पर सदा उपकारी गौ माँ
कदम कदम सुखकारी हे गौ माँ
फिर भी दुखी हमारी गौ माँ
संकट में आज हमारी गौ माँ

कातर निगाहे हमें देख रही हे 
फेली हुई बाहे हमें देख रही हे
चीखे और आहे हमें हमें देख रही हे
कतल घर की राहे हमें देख रही हे

हम चारा और पानी का प्रबंध करेंगे 
गौ हत्या हम हर हाल में बंद करेंगे 
हमें ही बचानी हे हमारी गो माँ 
संकट में आज हमारी गो माँ' 
कतल खाने में उसे लाया जाता हे 
तीन चार दिन उसे भूखा रखा जाता हे

गौपूजन से हो जाता है 33 करोड़ देवी-देवता का पूजन

सृष्टि में 33 करोड़ देवी-देवताओं का वास है। यदि एक दिन में एक देवता की पूजा भी करें, तो एक जीवनकाल में सभी देवी-देवताओं की पूजा करना असंभव है। धरा पर गौमाता ऐसा जीव है, जिसमें शास्त्रों के अनुसार 33 करोड़ देवी-देवता वास करते हैं। गौमाता के पूजन से सभी देवी-देवताओं का पूजन हो जाता है।

ये विचार आरएसएस के कुक्षी जिला संघचालक दत्तेश शर्मा ने गौकुल धाम गौशाला में रविवार रात आयोजित गौरक्षा संगोष्ठी में व्यक्त किए। 

Pages