अब हरियाणा के शहरों में खुलेंगे गाय हॉस्टल

गाय हॉस्टल

शहरी लोगों के लिए गाय पालने का रास्ता हुआ साफ, नगर निगम व हुडा से स्वीकृति का होगा झंझट खत्म चंडीगढ़। हरियाणा के शहरी क्षेत्रों में रहने वाले लोग भी अब गाय पाल सकेंगे। इसके लिए नगर निगम व हुडा के नियम भी आड़े नहीं आएंगे। हरियाणा सरकार ने गौसेवा आयोग के माध्यम से गायों के लिए हॉस्टल बनाने की तैयारी की है। जहां लोग अपनी गायों को रख सकेंगे।

भारत देश की रीढ़ है गौ माता – साध्वी सुमेधा भारती

साध्वी सुमेधा भारती

अजमल खाँ पार्क, करोल बाग दिल्ली में सात दिवसीय श्री गो कथा के अंतिम दिवस में गुरुदेव श्री आशुतोष महाराज जी की शिष्या कथा व्यास साध्वी सुमेधा भारती जी ने बताया कि आज समय की मांग है कि हम अपने पूर्वजों द्वारा दिखाए रास्ते पर चलें। हमारे भारत देश में जब-जब भी गाय पर अत्याचार हुआ तब-तब गो रक्षक आगे आए। उन्होंने अपने प्राणों की चिंता किए बिना गाय माता को प्रत्येक विपदा से बचाया। भगवान श्री कृष्ण जी ने तो गाय को दावानल से बचाने के लिए अग्नि तक का पान कर लिया था। मंगल पांडे जी ने गोरक्षा के लिए फाँसी के फंदे को भी स्वीकार कर लिया था। महाराज दलीप जी ने गाय के बदले अपने प्राण सिंह को देना उचित समझा

Blog Category: 

बुलंदशहर के बब्बन मियां गौ सेवा करते-करते चंद सालों में कैसे बन गए करोड़पति ?

बुलन्दशहर के स्याना में एक मुस्लिम युवक में गौ प्रेम देखने को मिलता है. मुस्लिम युवक ने गौ सेवा करने के लिए बाकायदा गौशाला खोल रखी है. और गायों की निःस्वार्थ सेवा सिर्फ इसीलिए करते है क्यो कि गौ सेवा से उनके कारोबार में दिन दूनी रात चैगनी प्रगति हुई है. बताया जाता है कि गौ सेवा करने के बाद से जैसे उनकी लॉटरी लग गयी. जिसके चलते पहले इस मुस्लिम युवक ने दिल्ली में प्रेशर कुकर बनाने की फैक्ट्री खोली और बाद में जब फैक्ट्री चल पड़ी तो उन्होंने बिल्डर के कार्य में भी कदम रखा. इसमें भी उन्हें सफलता हासिल हुई.

रोजाना दूध गरीबों और दोस्तों में बटवाते हैं 

भारतीय कृषि एवं गाय

भारतीय कृषि एवं गाय

हम अपनी अर्थव्यवस्था पर नजर डालें तो मन में एक प्रश्न उठता है कि भारतीय कृषि की प्रगति में कौन से बाधक तत्व हैं?

Pages