सामुहिक गौशाला खोलिये

आज जब आदमी 40- 40 हजार रु. की मोटर सायकल खरीद रहा है तब कुछ लोग थोड़ी- थोड़ी रकम लगाकर 10- 15 देशी गाय खरीदकर सामुहिकरूप से एक जगह उनका पालन- पोषण कर सकते हैं ।। अलग- अलग गाय पालने से यह बेहतर है ।। गौसेवा का पुण्य मिलेगा, शुद्ध दूध भी मिलेगा, आप एक परिवार को रोजगार भी दे सकेंगे और चाहे तो गोबर एवं गौ मूत्र से अन्य छोटे उद्योग भी चलाए जा सकते हैं ।। यह सामुहिक प्रयास समाज में सहकारिता, सहयोग और पारिवारिक भावना बढ़ाने वाला भी होगा... तब क्या विचार है... ?? 

जानें...इंजीनियर आबिद हुसैन कैसे बने गोभक्त, खोली गौशाला

एक मुस्लिम इंजीनियर में गायाें के प्रति इतनी आस्था अचानक क्यों जागी, ऐसा क्या हुआ कि इस गोप्रेमी ने गोशाला खोल ली। 

आबिद हुसैन और जीव रक्षा गौशाला 

गोशाला खोलने वाले मुस्लिम समुदाय के इंजीनियर आबिद हुसैन हैं। वे नगीना खंड के छोटे से गांव मोहमदनगर के रहने वाले हैं। आबिद अपने पैतृक गांव में ही जीव रक्षा गौशाला चलाते हैं। वे पिछले करीब तीन साल से शिक्षित मुस्लिम युवा अपने निजी खर्चे पर फ़िलहाल 50 से अधिक गायों की सेवा कर रहे हैं। 

ये वो अल्फाज़ हैं जो उन्हें चुभते थे...

जानिए, किस राज्य की सरकार आधुनिक डेयरी के लिए दे रही है ब्याज मुक्त ऋण

हरियाणा में पशुपालन विभाग राज्य के सभी जिलों में आधुनिक डेयरी की स्थापना करेगा। इस डेयरी की स्थापना के लिए लोगों को ब्याज मुक्त ऋण मुहैया कराया जाएगा। इन डेरियों में सब कुछ आधुनिक तरीके से किया जाएगा। गायों से दूध निकालने से लेकर गोबर के उठान तक सब कुछ मशीन आधारित होगा। ताकि गायों की सुरक्षा के साथ-साथ लोगों को जो दूध और घी मिले, वह भी स्वास्थ्यवर्धक हो। योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए विभाग के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी पीके महापात्रा ने राज्य के सभी जिलों में पशुपालन विभाग के डिप्टी डायरेक्टर से संपर्क करना शुरू कर दिया है।

किसानों की आय बढ़ाने के लिए डेयरी फार्मिंग कारगर

मैनेजर की नौकरी छोड़ खोली गोशाला

सरकारी अफसरों से भरे परिवार में उसने बहुत पहले तय कर लिया था कि वह अपने मन का काम करेगी. इसीलिए 2010 में उसने एसबीआइ लाइफ इंश्योरेंस कंपनी के दिल्ली में कनॉट प्लेस वाले दफ्तर की मैनेजरी को तौबा किया और मुंबई चली गई. यहां एक सहेली के साथ मिलकर लोखंडवाला में ‘बॉटलग्रीन’ नाम से स्टाइलिश कपड़ों का शोरूम शुरू कर दिया. काम चल निकला.

Pages