गाय ने कैसे बदल दिया लोगो का जीवन!

गाय ने कैसे

मध्यप्रदेश के रायसेन जिले के इमलिया गौंडी गांव के लोगों की जिंदगी में गौ-पालन ने बड़ा बदलाव ला दिया है। एक तरफ जहां वह लोगों के रोजगार का जरिया बन गई है, वहीं गाय की सौगंध खाकर लोग नशा न करने का संकल्प भी ले रहे हैं। इमलिया गौंडी गांव में पहुंचते ही ‘गौ संवर्धन गांव’ की छवि उभरने लगती है, क्योंकि यहां के लगभग हर घर में एक गाय है। इस गाय से जहां वे दूध हासिल करते हैं, वहीं गौमूत्र से औषधियों और कंडे (उपला) का निर्माण कर धन अर्जन कर रहे हैं। इस तरह गांव वालों को रोजगार भी मिला है।

यह है देश की पहली गौमूत्र रिफाइनरी, यहां बेच सकते हैं गाय का गोबर और मूत्र

यह है देश की पहली गौमूत्र रिफाइनरी, यहां बेच सकते हैं गाय का गोबर और मूत्र

जालोर के सांचौर में गोधाम पथमेड़ा की ओर से देश का पहला गौमूत्र रिफाइनरी प्लांट लगाया गया है.

गौपालकों को गौमूत्र और गोबर से अच्‍छी आमदनी और अमृत समान गौ मूत्र को जन जन की पहुंच तक पहुंचाने के लिए सांचौर की गोधाम पथमेड़ा गौशाला में इस रिफाइनरी प्‍लांट की स्‍थापना की गई है.

बोले सीएम योगी आदित्यनाथ, यूपी में गाय से क्रूरता करने वाले होंगे जेल के भीतर

बोले सीएम योगी आदित्यनाथ, यूपी में गाय से क्रूरता करने वाले होंगे जेल के भीतर

विश्व हिन्दू परिषद के गौरक्षा अधिवेशन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में जो गौ से क्रूरता करेगा, वह जेल में होगा।

लखनऊ. विश्व हिन्दू परिषद के गौरक्षा अधिवेशन में रविवार को हिस्सा लेते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में जो गौ से क्रूरता करेगा, वह जेल में होगा। निरालानगर के माधव सभागार में आयोजित कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी से एक तिनका भी गौमांस का निर्यात होता नहीं होता है। उन्होंने कहा कि निर्यात तो दूर जो गौ से क्रूरता करेगा, वह जेल में होगा।

गाय काटने वालो का क्यों ना सर कलम कर दिया जाये

" गाय " जिसे हमारे धर्म (हिन्दू) में माता का दर्जा प्राप्त है। अब माता क्यों कहा जाता है ये सबको पता है। भारत कि गौरवशाली परंपरा में गाय का स्थान सबसे ऊँचा और अत्यन्त महत्वपूर्ण रहा है। गाय माता की महिमा पर महाभारत में एक कथा आती है। यह कथा रघुकुल के राजा नहुष और महर्षि च्यवन की है, जिसे भीष्म पितामह मे महाराजा युधिष्ठिर को सुनाया था।

 

Pages