gauparivar's blog

गाय बचाओ -मानवता बचाओ .

गाय बचाओ -मानवता बचाओ .

गाय मनुष्य जाती की सबसे अच्छी मित्र है
गाय हमें दूध देती है
गाय के गोबर से कंडे बनतें हैं जो हमारा खाना बनाने में मदद करतें हैं .
क्यों बचपन में ऐसा ही कुछ निबंध में लिखते थे
बचपन की शितानियाँ और दोस्त तो याद है लेकिन ये निबंध भूल गए .

क्यूँ क्या गाय ने ढूध देना बंद कर दिया ,गाय अब गोबर नहीं देती .?
गाय बचाओ -मानवता बचाओ 

गौ माता के नाम पर केवल जय

गौ माता

श्री मान पता नहीं आप मेरे तर्क से सहमत होंगे या नहीं परन्तु मेरी धारणा है की, हिन्दू समाज के साधू ,,संत और अदि शंकराचार्य की निष्क्रियता ही समस्त समाज के पतन का कारण है,, चारों शंकराआचार्या जी अपने अपने मठों में मगन हैं,,बाकि के साधू संत अपने अपने आश्रमों में आनंदमयी जीवन व्यतित कर रहे हैं,,कोई धर्म संसद नहीं ,,कोई अनुशान नहीं ,,कोई दिशा निर्देश नहीं,,आज समाज का साधरण मानव गौ रक्षा के लिए जूझ रहा है,,परन्तु इस पुण्य कर्म के लिए साधू और संत समाज का योगदान नाम मात्र को ही मिल रहा है,, जबकि हमारे देश में असंख्य ऐसे मठ भी हैं जिनके पास सैंकढ़ों एकड़ जमीन है,,यदि समस्त साधू समाज चाहे तो एक आव्हा

Pages