gauparivar's blog

सभी प्रकार के रोगों की दवा दूध

सभी प्रकार के रोगों की दवा दूध दूध पुराने समय से ही मनुष्य को बहुत पसन्द है। दूध को धरती का अमृत कहा गया है। दूध में विटामिन `सी´ को छोड़कर शरीर के लिए सभी पोषक तत्त्व यानि विटामिन हैं। इसलिए दूध को पूर्ण भोजन माना गया है। सभी दूधों में माता के दूध को श्रेष्ठ माना जाता है, दूसरे क्रम में गाय का दूध है। बीमार लोगों के लिए गाय का दूध श्रेष्ठ है। गैस तथा मन्दपाचनशक्ति वालों को सोंठ, इलायची, पीपर, पीपरामूल जैसे पाचक मसाले डालकर उबला हुआ दूध पीना चाहिए। दूध को ज्यादा देर तक उबालने से उसके पोषक तत्व कम हो जाते हैं और दूध गाढ़ा हो जाता है। दूध को उबालकर उससे मलाई निकाली जाती है। मलाई गरिष्ठ, शीतल (ठ

Blog Category: 

गौ-मूत्र का कहाँ-कहाँ प्रयोग किया जा सकता है|

  1. संसाधित किया हुआ गौ मूत्र अधिक प्रभावकारी प्रतिजैविक, रोगाणु रोधक (antiseptic), ज्वरनाशी (antipyretic), कवकरोधी (antifungal) और प्रतिजीवाणु (antibacterial) बन जाता है|
  2. ये एक जैविक टोनिक के सामान है| यह शरीर-प्रणाली में औषधि के सामान काम करता है और अन्य औषधि की क्षमताओं को भी बढ़ाता है|
  3. ये अन्य औषधियों के साथ, उनके प्रभाव को बढ़ाने के लिए भी ग्रहण किया जा सकता है|
  4. गौ-मूत्र कैंसर के उपचार के लिए भी एक बहुत अच्छी औषधि है | यह शरीर में सेल डिवीज़न इन्हिबिटोरी एक्टिविटी को बढ़ाता है और कैंसर के मरीज़ों के लिए बहुत लाभदायक है| 
Blog Category: 

गोदुग्ध - धरती का अमृत है |

गोदुग्ध - धरती का अमृत है |

अनादिकाल से मानवजाति गोमाता की सेवा कर अपने जीवन को सुखी, सम्रद्ध, निरोग, ऐश्वर्यवान एवं सौभाग्यशाली बनाती चली आ रही है. गोमाता की सेवा के माहात्म्य से शास्त्र 
भरे पड़े है. आईये शास्त्रों की गो महिमा की कुछ झलकिय देखे -

गौ को घास खिलाना कि

Blog Category: 

''प्रिये गौ माता प्रिये गोपाल'' गौमाता

''प्रिये गौ माता प्रिये गोपाल''

 क्रिशन भगवान् ने गौ माता और ब्राहमण की आराधना को ही अपनी पूजा माना है -
जब तक सम्पूर्ण लोक प्रतिष्ठित है और उनमे मेरी पूजा होती है, तो गौ माता के रूप में ही मैं पूजा को यथार्थ रूप से की गयी पूजा मानकर ग्रहण करता हु, इससे भिन दूसरी पूजा मेरी नहीं है।
अल्प बुधि मनुष्य इस रहस्य को ना जानकार अन्य प्रकार से व्यर्थ ही मेरी पूजा करते है।

''प्रिये गौ माता प्रिये गोपाल''
Vandeeeeeeee Gou Matrammmmmm:):):)
Jai Gou Mata Jai Shree Ram 
Plz Save Gou Mata

Pages