पंचगव्य

गो दूग्ध बुद्धि, आयु व स्वास्थ्य, सौंदर्य वर्धक

गो दूग्ध बुद्धि, आयु व स्वास्थ्य, सौंदर्य वर्धक

गुण सूत्र जोड़ों में होते हैं, अतः स्वदेशी-विदेशी गोवंश की डी.एन.ए. जांच करने पर

‘ए1, ए2’

‘ए1, ए2’

‘ए2, ए2’

के रूप में गुण सूत्रों की पहचान होती है। स्पष्ट है कि विदेशी गोवंश ‘ए1ए1’ गुणसूत्र वाला तथा भारतीय ‘ए2, ए2’ है।

Blog Category: 

गाय के दूध में स्वर्ण तत्व होता है

गाय के दूध में स्वर्ण तत्व होता है

गाय के दूध में स्वर्ण तत्व होता है जो शरीर के लिए काफी शक्तिदायक और आसानी से पचने वाला होता है। गाय की गर्दन के पास एक कूबड़ होती है जो ऊपर की ओर उठी और शिवलिंग के आकार जैसी होती है। गाय की इसी कूबड़ के कारण उसका दूध फायदेमंद होता है। वास्तव में इस कूबड़ में एक सूर्यकेतु नाड़ी होती है। यह सूर्य की किरणों से निकलने वाली ऊर्जा को सोखती रहती है, जिससे गाय के शरीर में स्वर्ण उत्पन्न होता रहता है। जो सीधे गाय के दूध और मूत्र में मिलता है।इसलिए गाय का दूध भी हल्का पीला रंग लिए होता है। यह स्वर्ण शरीर को मजबूत करता है, आंतों की रक्षा करता है और दिमाग भी तेज करता है। इसलिए गाय का दूध सबसे ज्यादा अच

Blog Category: 

गाय की हर एक चीज़ गुणकारी एवम सर्वोत्तम है

गाय की हर एक चीज़ गुणकारी एवम सर्वोत्तम है

गाय की हर एक चीज़ गुणकारी एवम सर्वोत्तम है । गाय के गोबर को अतिशुद्ध माना जाता है। प्राचीन समय में घर को शुद्ध करने के लिए गाय के गोबर से घर लिपे जाते थे। आज भी दूर-दराज़ के गावों में यह कार्य जस का तस चल रहा है।

गौमूत्र (गाय के मूत्र) को भी घर में शुद्धी के लिए छिड़का जाता है तथा शुद्ध गौमूत्र के सेवन से पेट के विभिन्न रोगों से निजात मिलती है। छोटे शिशु को गाय का दूध पिलाने से उसका बौद्धिक विकास तीव्र गति से होता है।

Blog Category: 

‘‘चरक संहिता’’ में गाय के दूध के १० गुण बताये गये हैं

गाय से प्राप्त पदार्थों की महत्ता

आयुर्वेद में बताया गया है कि ‘‘गाय के दूध में विविध प्रकार के १०१ पदार्थ होते हैं जिनमें १९ प्रकार के स्नेहाल्म (फेटीओसड) हैं, ६ विटामिन, ८ क्रियाशील रस, २५ खनिज, १ शक्कर, ५ फास्फेट,१४ नाइट्रोजन पदार्थ हैं। इसमें २०% मक्खन होता है तथा कैल्शियम होता है जो हड्डियोें को मजबूत कर उसके क्षय को रोकता है। विटामिन तथा जैविक प्रोटीन भी खूब होता है,जिससे प्रक्रिया स्वाभाविक गति से चलती है। इस प्रकार गोदुग्ध पूर्ण आहार है।’’

Blog Category: 

Pages