गौ भक्त के लिए कुछ भी दुलर्भ नही

गौ भक्त के लिए कुछ भी दुलर्भ नही

गौ भक्त मनुय जिस जिस वस्तु की इच्छा करता है वह सब उसे प्राप्त होती है! स्त्रियों  में भी जो गौओं की भक्त हैं वे मनोवांछित कामनाएं प्राप्त कर लेती हैं! पुत्रार्थी   मनुष्य पुत्र पाता है और कन्यार्थी कन्या! धन चाहने वाले को धन और धर्म चाहने वाले को धर्म प्राप्त होता है! विद्यार्थी विद्या पाता है और सुखार्थी सुख! गौ भक्त के लिए यहां कुछ भी दुलर्भ नही है!

करोड़पति बनना है तो खोलिए आधुनिक डेयरी

करोड़पति बनना है तो आधुनिक मशीनों से लैस डेयरी खोलिए। इसमें सभी काम मशीन से होंगे। मेहनत भी नहीं करनी है लेकिन इसके लिए 15 अगस्त तक आवेदन करना होगा।

          विदेशों की तरह सभी सुविधाओं से लैस डेयरियों की स्थापना करने के लिए प्रदेश सरकार ने कुछ दिन पहले ही कामधेनु योजना शुरू की है। जिले में इसके लिए कोर्इ टारगेट भी नहीं है। दूध दुहने, चारा काटने व चारे को मिक्स करने के लिए मशीनें लगी होगीं। सभी मशीनें गोबर गैस प्लांट से चलेंगी। पहले साल से ही लगभग 66 लाख रूपए आय होने लगेगी। बैंक की किस्त और अन्य खर्चों को छोड़ दिया जाए तो लगभग 29 लाख रूपए की सालाना शुद्ध आय होगी।

Exclusive नंदी गोशाला : डेमेज कंट्रोल में जुटे भाजपा नेता, मुख्यमंत्री व गृहमंत्री से करेंगे मुलाकात

गोलासन गौशाला , नंदीशाला

गोलासन स्थित विश्व की सबसे बड़ी नंदी गोशाला बंद करने की कवायद में सांचौर के पूर्व विधायक का नाम सामने आने के बाद बिगड़ते सियासी समीकरण ने भाजपा के अन्य नेताओं को भी चौकन्ना कर दिया। इसके साथ ही जिले में भाजपा के अन्य नेताओं ने डेमेज कंट्रोल के प्रयास शुरू कर दिए हैं। इसके तहत सांसद देवजी पटेल जल्द ही मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से मुलाकात कर सकते हैं। वहीं गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया के नाकोड़ा यात्रा से लौटते समय आहोर विधायक शंकरसिंह राजपुरोहित रविवार को उनसे जालोर में मुलाकात करेंगे। इसके लिए गृहमंत्री ने आहोर विधायक को समय दे दिया है। गौरतलब है कि प्रशासन की ओर से नंदी गोशाला खाली करने के नो

गौ सेवा की महिमा विष्णुधमोर्तरपुराणमे

गौ सेवा की महिमा विष्णुधमोर्तरपुराणमे

विपत्ति  मे या कीचड मे फॅसी हुई या चोर तथा बाघ आदि के भय से व्याकुल गौ को क्लेश से मुक्त कर मनुष्य  अवमेधयज्ञ का फल प्राप्त करता है रुग्णावस्था मे गौओ को औषधि प्रदान करने से स्वंय मनुष्य  सभी रोगो से मुक्त हो जाता है गौओ को भय से मुक्त कर देनेपर मनुष्य  स्वय भी सभी भयो से मुक्त हो जाता हे चण्डाल के हाथ से गौको खरीद लेनेपर गोमेधयज्ञ का फल प्राप्त होता है तथा किसी अन्य के हाथ से गायको खरीदकर उसका पालन करन से गोपालक को गोमेधयज्ञका ही फल प्राप्त होता है। गौओ की शीत  तथा धूप से रक्षा करनेपर स्वर्ग की प्राप्ति  होती है। गौओ के उठने पर उठ जाय और बैठने पर बैठ जाय। गौओं के भोजन कर लेनेपर भोजन करे और

Pages